Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/livemung/domains/livemunger.in/public_html/wp-content/themes/masterstroke/assets/lib/breadcrumbs/breadcrumbs.php on line 252

भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेशल ट्रेनिंग देगा NASA, जानें क्या बोले एरिक गार्सेटी

Read Time:4 Minute, 29 Second



<p class="viewsHeaderText" style="text-align: justify;"><strong>Space: </strong>अमेरिकी अंतरिक्ष स्टेशन नासा जल्द ही भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को इस साल या उसके तुरंत बाद अंतर्राष्ट्रीय स्पेस स्टेशन पर एक संयुक्त मिशन भेजने के लिए प्रशिक्षण देगा. इसकी जानकारी भारत में अमेरिका के राजदूत एरिक गार्सेटी ने दी है. हाल ही में अमेरिकी राजदूत एरिक गार्सेटी बंगलुरु में आयोजित यूएस-इंडिया कमर्शियल स्पेस कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए थे. इस कार्यक्रम यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल और यूएस कमर्शियल सर्विस ने ये कार्यक्रम आयोजित किया था.</p>
<p style="text-align: justify;">एनडीटीवी रिपोर्ट के मुताबिक, कार्यक्रम को संबोधित करते हुए&nbsp;एरिक गार्सेटी ने कहा कि नासा जल्द ही भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को उन्नत प्रशिक्षण प्रदान करेगा, जिसका लक्ष्य अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर संयुक्त प्रयास करना है, उम्मीद है कि यह इसी साल या उसके तुरंत बाद होगा, जो हमारे नेताओं की यात्रा के दौरान किए गए वादों में से एक था.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>नासा और इसरो मिलकर लॉन्च करेंगे उपग्रह</strong></p>
<p style="text-align: justify;">अमेरिकी राजदूत एरिक गार्सेटी ने कहा कि जल्द ही हम इसरो के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से एनआईएसएआर (निसार) उपग्रह लॉन्च करेंगे, जो निसार नासा और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के बीच एक ज्वाइंट पृथ्वी-अवलोकन मिशन होगा. गार्सेटी ने कहा कि आप देख सकते हैं कि चाहे शांति की खोज हो या अंतरिक्ष का शांतिपूर्ण उपयोग जैसी चीजें, हम एक दूसरे का हाथ थामे हुए हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">जब नौकरियों की बात आती है, जो आज इस सम्मेलन का एक बड़ा हिस्सा है, तो इसे इस क्षेत्र में स्टार्टअप से भारतीयों और अमेरिकियों के लिए अच्छे वेतन वाली, उच्च तकनीक वाली नौकरियां पैदा की जा सकती हैं.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>मैं इस प्रगति से काफी खुश हूं- एस सोमनाथ</strong></p>
<p style="text-align: justify;">वहीं, कार्यक्रम को इसरो के अध्यक्ष एस सोमनाथ ने भी संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि ऐसे समझौते करने के लिए मुझे भारत और अमेरिका के दूरदर्शी नेताओं की सोच को सलाम करना चाहिए. जिन्होंने इस तरह का समझौता किया है, जो चंद्रमा को एक स्थायी स्थान के रूप में देखता है, जहां हम सभी आकर एक साथ काम कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि भारतीय और अमेरिकी साझेदारों के बीच अंतरिक्ष क्षेत्र के बीच रिश्ते मजबूत हो रहे हैं. मैं इस प्रगति से काफी खुश हूं.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ये भी पढ़ें: <a title="Lok Sabha Election 2024: ‘इंडी गठबंधन वाले चाहें तो मुजरा करें…’, जानिए PM मोदी ने क्यों कही ये बात" href=" target="_self">Lok Sabha Election 2024: ‘इंडी गठबंधन वाले चाहें तो मुजरा करें…’, जानिए PM मोदी ने क्यों कही ये बात</a></strong></p>



Source

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Previous post ‘जनता में झूठ फैला रहे हैं राहुल गांधी’, अग्निवीर योजना का जिक्र कर कांग्रेस पर भड़के अमित शाह
Next post माता और शिशु मृत्यु दर में कमी लाना फोकस: भारत सरकार के लक्ष्य को लेकर किशनगंज में आठ स्तर पर निरीक्षण, गुणवत्ता की हुई जांच – Kishanganj (Bihar) News